Archive for July 27th, 2012

July 27, 2012

हर नियम मुझसे टूट जाता है
हर धागा हाथ से छूट जाता है
कुछ देर खेलने के बाद मुझसे
हर खिलौना जाने क्यूँ रूठ जाता है

Advertisements